BBC Live
उत्तरप्रदेष/उत्तराखण्ड/हिमाचल मुख्य पृष्ठ राजनीति लोकल खबरें

जन्मदिन पर योगी को नहीं मिली खास बधाई: मोदी-शाह ने सोशल मीडिया पर यूपी के CM को बधाई नहीं दी

नई दिल्ली

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काफी एक्टिव नजर आ रहे हैं।

इस बीच योगी ने शनिवार को अपना 49वां जन्मदिन भी मनाया। हालांकि इस दिन उन्हें खास बधाई नहीं मिली। दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने सोशल मीडिया के जरिए योगी को बधाई नहीं दी। इस बात की चर्चा इसलिए भी हो रही है, क्योंकि महामारी के बीच मोदी ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को तो ट्वीट कर बधाई दी थी।

Advertisement

हालांकि, मोदी-शाह को छोड़ कई मंत्रियों और BJP नेताओं ने सोशल मीडिया पर योगी को जन्मदिन की बधाई दी है। इनमें देवेंद्र फडणवीस, डॉ. रमन सिंह, नरेंद्र सिंह तोमर, स्मृति ईरानी, किरण रिजेजू और प्रकाश जावडेकर भी शामिल हैं।

भाजपा सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान किसी के लिए भी बधाई जैसी कोई पोस्ट नहीं की है। इसमें पार्टी के सीनियर लीडर समेत विपक्ष के भी कई बड़े नेता शामिल हैं, जिनके लिए पीएम ने पोस्ट नहीं की। इसमें राजस्थान, गोवा, केरल और हरियाणा के मुख्यमंत्री भी शामिल हैं। हालांकि इस बीच मामले में समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता आईपी सिंह ने एंट्री करते हुए इस दावे को झूठा करार दिया।

Advertisement

आईपी सिंह ने मोदी की एक सोशल मीडिया पोस्ट को सबके सामने उजागर किया, जिसमें पीएम उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को जन्मदिन की बधाई देते दिख रहे हैं। इसी के साथ आईपी सिंह ने तंज कसते हुए कहा कि तीरथ सिंह को बधाई देने वाले मोदी ने योगी को पूछा तक नहीं।

योगी पर दांव खेलने से बच सकती है भाजपा
अगले साल होने वाले विधानसभा और 2024 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए यूपी सरकार में बड़ा फेरबदल होना तो तय है, लेकिन अटकलें थीं कि भाजपा योगी पर दांव खेलने से बच सकती है। या फिर योगी को हटा सकती है। हालांकि भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) बीएल संतोष ने मंगलवार को ही इस तरह की अटकलों को अफवाह बताया। बीएल संतोष और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने दो दिन यूपी सरकार के कामकाज की समीक्षा बैठक भी की थी। इसके बाद मंगलवार को उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए योगी के कामकाज की तारीफ भी की थी।

Advertisement

मोदी के करीबी एके शर्मा को यूपी सरकार में बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है
शुक्रवार को एक बार फिर भाजपा सूत्रों ने बताया कि योगी को हटाया नहीं जाएगा, लेकिन कैबिनेट में काफी बड़े बदलाव किए जा सकते हैं। पूर्व नौकरशाह और मोदी के करीबी माने जाने वाले एके शर्मा को यूपी सरकार में बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है। वहीं, कयास लगाए जा रहे हैं कि बीएल संतोष के दौरे के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह का भी यूपी दौरा हो सकता है।

बड़े बदलाव के सभी फैसले इस महीने लिए जा सकते हैं। कयास हैं कि केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार में भी यूपी के कुछ नए चेहरों को मौका दिया जाएगा। जिसका फायदा 2022 के विधानसभा चुनाव में पार्टी को मिल सके। इसमें जाति और क्षेत्रवाद को ध्यान में रखते हुए कई नए लोगों को मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा। यह फैसला बीएल संतोष और राधा मोहन द्वारा योगी, सीनियर नेता, मंत्री और विधायकों से दो राउंड की बैठक के बाद लिया जाएगा।

Advertisement

गंगा में मिली लाशों ने विदेशी मीडिया में सुर्खियां बंटोरी
हाल ही में हुए पंचायत चुनाव में भाजपा को बड़ा झटका लगा था। भाजपा ने अपने गढ़ की कई सीटों को गंवाया था। यही कारण है कि भाजपा के बड़े मंत्री और नेता इतने एक्टिव नजर आ रहे हैं। कोरोना की दूसरी लहर के बीच योगी सरकार को भी कई एक्सपर्ट्स और विपक्षी नेताओं की आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है।

यूपी के कई शहरों में गंगा नदी में लाशें तैरती हुई मिली थीं। यह तस्वीरें विदेशी मीडिया में बड़ी-बड़ी हेडिंग्स के साथ छपी थीं। इस पर योगी सरकार ने मीडिया पर चीजों को गलत तरीके से दिखाने का आरोप लगाया था। राज्य सरकार ने कहा था कि योगी जमीनी स्तर पर काम कर रहे हैं।

Advertisement

Related posts

आदिवासी की जमीन पर दबंगो का कब्जा-मामला नगर पंचायत खोंगापानी का

BBC Live

एनजीटी के सख्त नियमों को दरकिनार करते रेत माफियां करा रहे है पैरी नदी के दमकाडीह घाट में अवैध उत्खनन

BBC Live

सरकार को सदबुध्दि देने के लिए सविचो ने किये यज्ञ

BBC Live

एक टिप्पणी छोड़ें

Translate »