BBC Live
टाप न्यूज मध्यप्रदेष/छत्तीसगढ़ मुख्य पृष्ठ राज्य लोकल खबरें

अनुपपुर वनमण्डल में करोणो का घोटाला-कैम्पा मद से फर्जी बाउचरो के जरिये हुआ घोटाला, पूर्व वनमण्डलाधिकारी भगतिया और एसडीओ गोस्वामी ने दिया अन्जाम।

अब्दुल सलाम कादरी
प्रधान सम्पादक(खबर 30 दिन)
बीबीसी लाईव
मोबाईल-9424257566

अनुपपुर/मध्यप्रदेश
ज्ञात हो कि डीएफओ भगतिया 2020 में रिटायर्ड हो चूके है और गोस्वामी एसडीओ 2021 अप्रेल में रिटायर्ड हो चूके है। हमने इसके सम्बन्ध में ईओडब्ल्यू, मुख्यमंत्री सचिवालय और प्रधान मुख्यवनसंरक्षक को लिखित में ज्ञापन दिया गया था। परन्तु आज दिनांक तक इस मामले मे कार्यवाही नहीं होने के कारण अब मामले को नये सिरे से बनाकर अन्जाम दिया जाएगा।

Advertisement

वनमण्डल अनुपपुर में भ्रष्टाचार कोई नया नहीं है यहां पर कैम्पा मद से मिलने वाली राशि का एक बड़ा हिस्सा सिर्फ भ्रष्टाचार मे जाता है जिसमे निचे से लेकर उपंर तक सबको हिस्सा पहुंचाया जाता है।

Advertisement

2019-20, 202-2021 के कैम्पा मद के बजट को देखा जाए तो एक बड़ा मामला सामने आयेगा। यहां पर कैम्पा मद से हुए कार्यो और खरीदी के बाउचरो पर नजर दौड़ाया जाए तो मामला स्वंय स्पष्ट हो जाएगा। इस मामले मे पूर्ण सबूत देने के बावजूद करीब 6 से 7 करोण के फर्जी बाउचरो की जांच नहीं की गई है कारण स्पष्ट है जो भी इस मामले मे संलिप्त है उसने एक मोटी रकम जांच को दबाने के नाम पर खाई है। इस मामले मे उस जांच अधिकारी के खिलाफ भी कार्यवाही होनी चाहिए।

कैम्पा योजना से वृक्षारोपण के गड्ठे पौधो की खरीदी, खाद बीज दवाईयां और सूरक्षा के लिए कंटीले तार और सिमेन्ट पोल इत्यादि की खरीदी की जाती है जिसमें फर्जी बाउचर बनाकर फर्जी कोटेशनो और बिल के आधार पर अपने चहेते सप्लायरो के नाम पर चेक कटवाकर राशि आहरण कर ली गई है।

Advertisement

अनुपपुर वन परिक्षेत्र, कोतमा वन परिक्षेत्र, बिजुरी वन परिक्षेत्र, अमरकंटक वन परिक्षेत्र, राजेन्द्रग्राम वन परिक्षेत्र, अहिरगवां वन परिक्षेत्र, जैतहरी वन परिक्षेत्रों में 2019 से 2021 के वित्तीय वर्षो में करोणो का घोटाला हो चूका है। डिप्टी रेन्जरों को प्रभारी बनाकर उनका दोहन किया गया है जिसके कारण उनके भी हाथ बंधे हुए है। या फिर ये लोग विभाग के खिलाफ जा ही नहीं सकते है।

हमने इस सम्बन्ध मे आरटीआई के माध्यम से जानकारी चाही थी जिसे आज तक नहीं दी गई है इस बावजूद अपील करने पर भी कोई सूनवाई नही की गई है हमने मामले को राज्य सूचना आयोग भोपाल को भेजा है।

Advertisement

एक एक पैसे का हिसाब इन भ्रष्टाचारियो से लिया जाना तय है जरूरत पड़ने पर हमारे द्वारा हाई कोर्ट जबलपूर का रूख भी किया जाएगा। परन्तु किसी भी कीमत इन भ्रष्टाचारियो से रिकवरी करवाई जाएगी।

एक रेन्जर ने हमे धमकी देते हुए कहा कि कही भी चले जाओ कोई कार्यवाही नही होगी। जैसे व्यापम के सबूत मिटा दिए गये उसी प्रकार तुमको भी इस दूनिया से मिटाने में समय नहीं लगेगा।

Advertisement


हमने अभी वर्तमान में इस सम्बन्ध में फिर से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से उक्त मामले में कार्यवाही के लिए और इसकी जांच के लिए आग्रह किया है। उनके द्वारा आश्वासन दिया गया है कि जल्द ही इस मामले में जांच और कार्यवाही होगी और दोषियों को बख्सा नही जाएगा। शासकीय राषि के एक एक पैसे की रिकवरी की जाएगी।

  • अगली  खबर Forest Anuppur की दूसरी कड़ी जल्द प्रसारित की जाएगी…………………………
  •  अगली खबर , उमरिया वनमण्डल, शहडोल वनमण्डल-उत्तर दक्षिण में हुए घोटाले की एक एक परत जल्द आपके सामने

Advertisement

Related posts

प्रदेश में कोरोना 45000 पार : 2100 नए मरीज, पहली बार 24 घंटे में 24 मौतें, रायपुर में 711 केस पार..

BBC Live

किसान मुद्दे पर भाजपा के नेता ‘‘बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना’’ की कहावत को चरितार्थ कर रहे हैं – विकास उपाध्याय

BBC Live

भोपाल नगर निगम ने दिया आदेश- 10 तारीख तक जल कर चुकाओ वर्ना 15% जुर्माना; लोग बोले- शर्म करो, कोरोना काल में भी जेब भरोगे

BBC Live

एक टिप्पणी छोड़ें

Translate »