BBC Live
टाप न्यूज मध्यप्रदेष/छत्तीसगढ़ मुख्य पृष्ठ राज्य स्लाईडर

बड़े बड़े और प्रसिद्ध ब्रांड के नकली, साबुन शैंपू व चाय पत्ती सरीखे सामानों से पटने लगा है, बिलासपुर का बाजार

शशि कोन्हेर

नकली शैंपू और साबुन और चाय पत्ती के उपयोग से लोगों के स्वास्थ्य के लिए बहुत बड़ा खतरा

Advertisement

बिलासपुर। बिलासपुर शहर का बाजार बीते कुछ अर्से से बड़े-बड़े और प्रसिद्ध ब्रांड के सामानों से पटने लगा है। हालत यह है कि नकली सामान बेचने वाले दुकानदार लाखों में कमाई कर रहे हैं, जबकि असली सामान बेचने वाले ग्राहक और भूसी दक्षिणा तक को तरस रहे हैं। हमें भरोसेमंद सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बिलासपुर शहर के कई दुकानों में नकली सामानों की बाढ़ सी आई हुई है। हमें मिली जानकारी के अनुसार इस समय बिलासपुर में डेटॉल का साबुन, फेयर एंड लवली का छोटा वाला पाउच, डोव शैंपू का छोटा पाउच, क्लिनिक प्लस, और तो और रेड लेबल चाय पत्ती तक नकली आ रही है। नकली सामान बेचने वाले बड़े खिलाड़ी बिलासपुर शहर के दुकानदारों को बहुत सस्ते में डेटॉल साबुन, फेयर एंड लवली, डोव शैंपू और क्लिनिक प्लस सरीखे सामानों की आपूर्ति धड़ल्ले से कर रहे हैं। जानकारी तो यहां तक मिली है कि इस गोरखधंधे में लगे लोग शहर में बहुत बडे पैमाने पर नकली हार्पिक भी खपा रहे हैं। बीते 1 साल से नकली सामानों के गोरखधंधे में लगे लोग बिलासपुर में लंबी चांदी काट रहे हैं। जैसी की जानकारी मिली है वे डेटॉल साबुन, फेयर एंड लवली, डोव शैंपू, क्लिनिक प्लस और हार्पिक जैसे सामान दुकानदारों को बहुत सस्ते में उपलब्ध करा रहे हैं। और कुछ दुकानदार इन्हें असली की कीमत पर बेचकर लंबी रकम बना रहे हैं। यहां तक जानकारी मिली है कि नेपाल से आने वाला पिलोजय भी कस्टम ड्यूटी बचाकर बड़ी मात्रा में रेलवे पार्सल ऑफिस के जरिए बिलासपुर में लाया और खपाया जा रहा है।

Advertisement

  इस नकली और घटिया स्टैंडर्ड के सामान को दुकानदार जहां असली के रेट में बेच रहे हैं। वही इन नकली शैंपू और साबुन का उपयोग करने वालों को त्वचा संबंधी शिकायतें भी हो सकती हैं।

कहा जा रहा है कि इस पूरे मामले में रेलवे के पार्सल ऑफिस से बहुत बड़ा  तिलस्म चलाया जा रहा है। बाहर से नकली सामान रेलवे के पास पार्सल ऑफिस में लाकर, गोरखधंधे में शामिल लोग वहीं से पूरे शहर में उसकी आपूर्ति कर रहे हैं। जिला प्रशासन तथा संबंधित विभाग के लोग अगर रेलवे पार्सल ऑफिस में पतासाजी करें तो उन्हें यह जानकारी मिल सकती है कि बड़े पैमाने पर आ रहे उक्त नकली सामान आखिर बिलासपुर में कहां से आ रहे हैं..? और यहां किसके नाम से पहुंच रहे हैं।

Advertisement

जाहिर है कि बड़ी कंपनियों और ब्रांडेड सामानों के हर जगह अधिकृत वितरक हैं। इसलिए उनका बाहर से सामान इन्हीं वितरकों के पास पहुंचता है। लेकिन इनके अलावा भी ब्रांडेड शैंपू साबुन, चाय पत्ती, फेयर एंड लवली सरीख चीजें अनधिकृत रूप से रेलवे के पार्सल ऑफिस में भेजी जा रही हैं। और वहां से गोरखधंधे में लगे लोग इसे पूरे शहर की दुकानों में खपा रहे हैं।

इस बाबत कुछ व्यवसायियों से बात करने पर उन्होंने हमें बताया कि अगर प्रशासन रेलवे पार्सल ऑफिस के दस्तावेजों को खंगाले तो उसे बिलासपुर में चल रहे इस बहुत बड़े नकली गोरखधंधे के कारोबार की पूरी जानकारी मिल सकती है।

Advertisement

उम्मीद की जानी चाहिए कि प्रशासन इसे गंभीरता से लेकर पूरे मामले की जांच तथा इसके पीछे चल रहे खेल करने वाले लोगों को बेनकाब करने में अधिक देर नहीं करेगा। क्योंकि यह केवल किसी कंपनी के नकली माल को बेचने का मामला नहीं है। वरन इस तरह के नकली शैंपू साबुन और चाय पत्ती से शहर में लोगों के स्वास्थ्य पर जबरदस्त विपरीत प्रभाव पड़ने की भी आशंका है। एवेरेस्ट के मसाला बहुत बिक रहा है नकली।

Advertisement

Related posts

धरमजयगढ़ में लॉक डाउन का पालन करते हुए सादगी के साथ मनाया गया ईद-उल-अज़हा

BBC Live

Coronavirus Live Updates: अब तक कोरोना के 2,06,212 टेस्ट किए गए, ICMR ने कहा- अगले 6 सप्ताह के लिए टेस्टिंग का स्टॉक

BBC Live

SOPORE POLICE ARRESTS DRUG PEDDLER, PSYCHOTROPIC SUBSTANCE RECOVERED

BBC Live

एक टिप्पणी छोड़ें

Translate »