BBC Live
टाप न्यूज भ्रष्टाचार मध्यप्रदेष/छत्तीसगढ़ मुख्य पृष्ठ राज्य स्लाईडर

श्रीमती भारती प्रधान बस्तर, जगदलपुर की जिला शिक्षा अधिकारी है ? या किसी गाँव की अनपढ़ पंच समझ से परे?

बस्तर/रायपुर

बीबीसी लाईव-एक्सक्लुसिव

Advertisement
  • छत्तीसगढ़ में सूचना का अधिकार लागू हुए 15 साल हो गया पर आज तक किसी जन सूचना अधिकारी को सूचना का ज्ञान ही नही है-छत्तीसगढ़ सरकार के लिए ये बेहद गम्भीर विषय है।

रायपुर/बस्तर

विदित हो कि दुर्ग निवासी RTI व सामाजिक कार्यकर्ता श्री करीम खान, के द्वारा बस्तर जिले में चल रहे मध्यान भोजन की वित्तीय स्थिति अर्थात शासन की आबंटित राशि पूरी खर्च होती है या नही ये जानने के लिए दिनांक 03.08.2021 को जिला शिक्षा अधिकारी (बस्तर) जगदलपुर में आरटीआई आवेदन पेश किया कि मध्यान भोजन योजना का वर्ष 2018-19, 2019-20 में वित्तीय प्रगति अर्थात इन वर्षों में ओपनिंग बैलेंस, सेंक्शन बजट, जारी बजट, खर्च राशि एवं शेष राशि क्या थी बताई जाए।

Advertisement

इस आवेदन में *श्रीमती भारती प्रधान* बस्तर, जगदलपुर की जिला शिक्षा अधिकारी ने अपने पत्र क्रमांक 4980/म.भो./सू.का.अधि./2021- 21 जगदलपुर दिनांक 31.08.2021 में लिखा कि आपके द्वारा चाही गई सूचना/जानकारी किसी लोक हित से संबंधित नही रखता है साथ ही चाही गई वांछित जानकारी व्यक्तिगत सूचना से संबंधित है, इसलिए इन नियमों के अनुसार जानकारी/दस्तावेज देना संभव नही है।

Advertisement

समझ से परे है कि एक जिला अधिकारी जानकारी देने में क्यों आनाकानी कर रहें हैं? क्या किसी बड़े घोटाले पर पर्दा डालने का कार्य तो नही?

Advertisement

*जो लोक सूचना अधिकारी अगर ईमानदार होगा वो किसी भी कीमत में जानकारी देने में मना नही करेगा या इधर उधर की उलूल जुलुल जवाब नही देगा।

क्योंकि यही आवेदन छत्तीसगढ़ के सभी 26 शिक्षा जिला में आवेदन किए गए और सभी जिलों से बकायदा जानकारियाँ दी गई पर श्रीमति भारती प्रधान DEO जगदलपुर के जानकारी न देने के पीछे की मंशा समझने की कोशिश की गई तो बस्तर के भ्रष्टाचार के चर्चे व आए दिन अखबारों में छपने वालों खबरों की याद आई तब समझ आया कि *मैडम भारती प्रधान* जिला शिक्षा अधिकारी ने कहीं वही तो नही किया, जिसके डर से भ्रष्टाचार का खुलासा न हो ये सोच कर ही उन्होंने तृतीय पक्ष की जानकारी बताते हुवे बहाना किया।

Advertisement

मैं माननीय दाऊ भूपेश बघेल जी से निवेदन कुरुंगा की वो ऐसे अनपढ़ जैसे कार्यवाही करने वाले जिला शिक्षा अधिकारी को तत्काल हटाने की कार्यवाही करें या सूचना के अधिकार अधिनियम को ही छत्तीसगढ़ से समाप्त कर दें।

Advertisement

Related posts

उद्यमियों ने राज्य सरकार को दिया 75 करोड़ रूपए के पूंजी निवेश का प्रस्ताव …

BBC Live

विधायक शैलेश पांडेय ने कहा कि पूर्व में भारतीय जनता पार्टी द्वारा पुल का जो निर्माण कराया गया है वह सही नहीं था इसी वजह से वह गिर गया है

BBC Live

भारतीय अमेरिकी मूल की हसन को न्यूयॉर्क के फेडरल रिजर्व बैंक की जिम्मेदारी

BBC Live

एक टिप्पणी छोड़ें

Translate »