6.6 C
New York
February 27, 2024
BBC LIVE
अंतर्राष्ट्रीयराज्यराष्ट्रीय

दुनिया नफ़रत की आग में झुलस रही है सिर्फ़ मुहब्बत इसका इलाज-सैय्यद मुहम्मद अशरफ़ किछौछवी

18 जनवरी 2024, राजस्थान

दरगाह अजमेर शरीफ़ अजमेर में आल इंडिया उलमा व मशाईख बोर्ड द्वारा एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया गया जिसे बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष सैयद मुहम्मद अशरफ़ किछौछवि सहित बोर्ड की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों ने संबोधित किया ।
बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष हज़रत सैयद मुहम्मद अशरफ़ किछौछवी ने हज़रत ख़्वाजा गरीब नवाज़ रहमतुल्लाह अलैहि के 812वें उर्स की सभी को मुबारकबाद देते हुए कहा कि आज कई सदियों के बीत जाने के बाद भी इस चौखट पर अक़ीदत् के गुलाब पेश करने वालों की तादाद बढ़ ही रही है यह इस बात को समझाने के लिए काफ़ी है कि जब हम अपने वजूद को दूसरों के लिए नफ़ा बख्श बना लेते हैं तो किसी के चाहने से भी कोई हमसे नफ़रत नहीं कर सकता ,गरीब नवाज़ ने मुहब्बत का ऐसा पेड़ लगाया है जो लगातार अपने फूलों की ख़ुशबू से लोगों को अंदर से महका रहा है वहीं इसके फल नफ़रतों का इलाज है।
हज़रत ने कहा कि इस बारगाह में राजा और रंक दोनों एक जैसे हैं और सबके लिए बराबर हिस्सा भी ,हुकूमत करने वालों को इससे यह सीखना चाहिए कि गरीब अमीर में भेद न करें और सबके लिए मौक़े निकालें ताकि अमीर और गरीब की खाईं को पाटा जा सके ,वहीं हज़रत ने यह भी कहा कि हाकिम की ज़िम्मेदारी यह भी है कि किसी तरह की कट्टरता को बढ़ावा न दे और इसकी रोकथाम के लिए सख़्त कार्यवाही भी करे ।हज़रत ने प्रधानमंत्री द्वारा देश में सूफ़ी सर्किट के निर्माण की बोर्ड की माँग पर गंभीरता दिखाने के लिए उनका धन्यवाद भी दिया साथ ही यह भी कहा कि हम चाहते हैं कि जल्द इस कार्य को ज़मीन पर उतारा जाये ताकि सूफ़ी संतों की शिक्षाओं को आम किया जा सके और सूफ़ी पर्यटन द्वारा मुहब्बत का पैग़ाम जन जन तक पहुँचाया जा सके ।
मुल्क में जिस तरह का माहौल है उसमें मुसलमानों को घबराने की कोई ज़रूरत नहीं है और किसी भी तरह के बहकावे या अफ़वाह पर ध्यान नहीं देना है लोगों की मदद करनी हैं और मुहब्बत से नफ़रतों का इलाज करना है किसी की ख़ुशी हमारे लिए दुख का विषय नहीं हो सकती ।
बोर्ड के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हज़रत अम्मार अहमद अहमदी उर्फ़ नैय्यर मियाँ ने कहा कि हम सब ख़्वाजा गरीब नवाज़ की बारगाह में दुआ के लिए हाज़िर हैं कि पूरी दुनिया में इंसानियत का क़त्ल रुक जाये और हर तरफ़ अमन हो ,साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि ज़ालिम की तरफ़दारी ज़ुल्म को बढ़ावा देना है यानी आतंकवाद का प्रोत्साहन है ऐसे में यह सोचना होगा कि हम आतंक के साथ हैं या ख़िलाफ़ अगर आतंक को मिटाना है तो इंसाफ़ क़ायम करना होगा ,मज़लूमों का क़त्ल रोकना होगा और दुनिया के तमाम मुल्कों को ज़ालिम को रोकना होगा ।

अजमेर शरीफ़ के गद्दीनशीन सलमान चिश्ती ने सभी को उर्स की मुबारकबाद पेश की उन्होंने कहा कि लोग आपस में प्रेम करें क्योंकि प्रेम ही एक संदेश है जिससे सुकून भी मिलता है अमन की स्थापना भी होती है इन्साफ़ का माहौल भी बनता है और जिसकी मंज़िल विकास है ।
इस दौरान बोर्ड यूथ अध्यक्ष हज़रत सैयद अरशद मियां साहब, हज़रत शाहिद मियां साहब, हज़रत सैय्यद हम्माद अशरफ साहब, सैय्यद राशिद अनवर साहब बोर्ड राजस्थान अध्यक्ष कारी अबुल फतह, बोर्ड राजस्थान यूथ अध्यक्ष बरकत शाह बोदला, नियामत अली, मोहम्मद अमन भीलवाड़ा व अन्य मौजूद रहे ।

Related posts

इस दिन से लागू होंगे देश में नए आपराधिक कानून, जानें नए अधिनियम की अहम बातें

bbc_live

गंगरेल डेम कि सफाई अभियान में भाग लेने पुलिस अधीक्षक धमतरी द्वारा प्रातः 06 बजे टीम लेकर अपनी सायकल से निकले

bbc_live

कांकेर जिले के अंतिम छोड़ के गांव में नहीं पहुँचती शासन का कोई योजना

bbc_live

Leave a Comment

error: Content is protected !!