BBC LIVE
राज्य

पैसे के बदले टिकट मामला : कुमारी सैलजा ने BJP और कांग्रेस के लगभग नौ नेताओं को भेजा लीगल नोटिस, कहा – आरोप सिद्ध करें या मांगे माफी

रायपुर। हरियाणा के सिरसा से कांग्रेस की लोकसभा प्रत्याशी और प्रदेश कांग्रेस की पूर्व प्रभारी, कुमारी शैलजा ने बीजेपी समेत पूर्व कांग्रेस नेताओं को लीगल नोटिस भेजा है।

किन्हें मिला नोटिस

जिन पूर्व कांग्रेस नेताओं को नोटिस भेजा गया है, उनमें पूर्व विधायक शिशुपाल सॉरी, पूर्व विधायक प्रमोद शर्मा, पूर्व कांग्रेस नेत्री वाणी राव, कांग्रेस नेता चंद्रशेखर शुक्ला और कांग्रेस नेता तुलसी साहू, चोलेश्वर चंद्राकर, अजय बंसल, आलोक पांडे और अर्जुन सिंह को नोटिस भेजा गया है।

क्या है पूरा मामला?

बता दें कि, पूर्व प्रदेश प्रभारी कुमारी शैलजा पर छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के वक्त पैसे के बदले टिकट देने का आरोप लगे थे। ये आरोप उनपर उनके ही पार्टी के नेताओं ने लगाए थे। विधानसभा चुनाव में बुरी तरह से हार का सामना करने पर कई कांग्रेसी नेताओ ने कहा था कि अगर सही उम्मीदवार को टिकट दिया जाता तो पार्टी को इस तरह से हार का सामना नहीं करना पड़ता। गांधी परिवार की करीबी कुमारी शैलजा की साख पर इन आरोपों को वजह से बट्टा लगा था। ये आरोप सिरसा तक उनका पीछा नहीं छोड़ रहे है इसलिए अब कुमारी शैलजा का कोप उन सभी नेताओं पर फूट रहा है जिन्होंने उनपर ये आरोप लगाए थे।

इमेज बचाने की कोशिश में शैलजा

गौरतलब है कि, लगभग सभी नेताओं ने चंद दिनों पहले ही भाजपा में प्रवेश किया है और भाजपा की तरफ से हरियाणा में सिरसा लोकसभा में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। पूर्व कांग्रेस नेता चंद्रशेखर शुक्ला सहित कई नेताओं ने वहां आम सभा की थी जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि कुमारी शैलजा जब छत्तीसगढ़ की प्रभारी थी तो उन्होंने पेैसे लेकर विधायक की टिकट बांटी थी जिसके बाद सिरसा में सनसनी फैल गई है। पॉलिटिकल पंडित कह रहे है कि इन गंभीर आरोपों का लोकसभा चुनाव में बुरा असर पड़ सकता है इसी डर और अपनी इमेज बचाने कुमारी शैलजा ने ये नोटिस भेजा है।

सिरसा का रण इतना भी नहीं आसान

एक बार फिर सिरसा से कुमारी शैलजा कांग्रेस प्रत्याशी हैं। ये उनका क्षेत्र है। वे लगातार इस सीट से जीतती रही हैं। लेकिन उनके खिलाफ पूर्व कांग्रेस नेता अशोक तंवर को भाजपा ने उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़वा दिया हैं। ऐसे में शैलजा के लिए सिरसा का रण उतना आसान नहीं रहा जितना पहले हुआ करता था।

नोटिस में क्या कहा?

अपने वकील के मार्फत कुमारी शैलजा ने नोटिस भेजते हुए कई आरोप लगाए हैं और मांग की है की आरोप लगाने वाले अपने आप को प्रमाणित करें या फिर दो दिन के अंदर सार्वजनिक माफी मांगे ऐसा न करने पर उपयुक्त कानूनी कार्यवाही आपके खिलाफ की जाएगी।

नेताओं ने कहा – हम तैयार

इस मामले में कांग्रेस के पूर्व नेता अलोक पांडे का भी बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि, मुझे कुमारी शैलजा का लीगल नोटिस मिला है। उन्होंने पैसे के बदले टिकट देने का आरोप लगाए जाने को लेकर मुझे और अन्य नेताओं को लीगल नोटिस भेजा है। पांडे ने आगे कहा कि, कुमारी शैलजा पर लगाए गए आरोपों के पूरे सबूत मैंने रखे हुए है। वह सिरसा में हार से घबराई हुई हैं। क्योंकि उन्होंने कार्यकर्ताओं का अपमान किया, बदसलूकी की है। कांग्रेस पार्टी के खोखले वादों को हमने जनता के बीच लाकर रख दिया। पांडे ने कहा, मैंने सर्वश्रेष्ठ मेंबरशिप रखी थी लेकिन मेरे बजाय पैसे लेकर छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में कुमारी शैलजा ने पैसे वाले लोगों को टिकट दे दिया। ये ऐसे लोग थे जिन्होंने न मेंबरशिप किया न किसी एक्टिविटी में शामिल थे। लगातार 22 विधायकों का टिकट काटा गया और फर्जी सर्वे कराए गए। हमारे द्वारा लगाए गए आरोप पूर्ण रूप से सत्य है और हम इसका सबूत पेश भी करेंगे और जन जन तक ये बातें पहुंचाएंगे।

देखें नोटिस –

Related posts

पहले चढ़ाया भोलेनाथ को जल, फिर राम जी की मूर्ति कर ली चोरी, गिरफ्तार

bbc_live

अशोका बिरयानी के जीएम और मैनेजर को पुलिस ने किया गिरफ्तार, दो युवकों की मौत के मामले में की कार्रवाई

bbc_live

अधिसूचना जारी : बृजमोहन अग्रवाल के विधायकी से इस्तीफे के बाद रायपुर दक्षिण दक्षिण क्षेत्र में उपचुनाव की तैयारी

bbc_live

Leave a Comment

error: Content is protected !!