20.1 C
New York
May 18, 2024
BBC LIVE
अंतर्राष्ट्रीय

कितना खतरनाक है सर्वाइकल कैंसर, जिससे हुई पूनम पांडेय की मौत, जानिए यहाँ

नई दिल्ली। आज बॉलीवुड की फेमस एक्ट्रेस पूनम पांडेय (poonam pandey) की मौत हो गई। पूनम की मौत सर्वाइकल कैंसर (cervical cancer) के कारण हुई है। इसकी जानकारी खुद उनके मैनेजर ने दी। एक इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा गया कि, 1 फरवरी की रात को सर्वाइकल कैंसर से जंग के बाद उन्होंने दम तोड़ दिया। महज 32 साल की उम्र में पूनम पांडे की निधन (Poonam Pandey death) की खबर से फैंस यकीन नहीं कर पा रहे है।

पूनम की मौत सर्वाइकल कैंसर के कारण हुई है। ऐसे में हर किसी के मन में यह सवाल है कि आखिर सर्वाइकल कैंसर क्या है? तो चलिए आपको बताते है कि क्या है सर्वाइकल कैंसर।

सर्वाइकल कैंसर क्या है?

सर्वाइकल कैंसर वह कैंसर है जो गर्भाशय ग्रीवा की कोशिकाओं में शुरू होता है। गर्भाशय ग्रीवा गर्भाशय (गर्भ) का निचला, संकीर्ण सिरा है। गर्भाशय ग्रीवा गर्भाशय को योनि (जन्म नलिका) से जोड़ती है। सर्वाइकल कैंसर आमतौर पर समय के साथ धीरे-धीरे विकसित होता है। गर्भाशय ग्रीवा में कैंसर प्रकट होने से पहले, गर्भाशय ग्रीवा की कोशिकाएं डिसप्लेसिया नामक परिवर्तनों से गुजरती हैं, जिसमें गर्भाशय ग्रीवा के ऊतकों में असामान्य कोशिकाएं दिखाई देने लगती हैं । समय के साथ, यदि नष्ट नहीं किया गया या हटाया नहीं गया, तो असामान्य कोशिकाएं कैंसर कोशिकाएं बन सकती हैं और बढ़ने लगती हैं और गर्भाशय ग्रीवा और आसपास के क्षेत्रों में अधिक गहराई तक फैलती हैं।

सर्वाइकल कैंसर के प्रकार

गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर के दो मुख्य प्रकार हैं: स्क्वैमस सेल कार्सिनोमा और एडेनोकार्सिनोमा । लगभग 80% से 90% सर्वाइकल कैंसर स्क्वैमस सेल कार्सिनोमा होते हैं, जबकि 10% से 20% एडेनोकार्सिनोमा होते हैं।

सर्वाइकल कैंसर के लक्षण और संकेत

गर्भाशय ग्रीवा की कोशिकाओं में कैंसरपूर्व परिवर्तन शायद ही कभी लक्षण पैदा करते हैं। यह जानने का एकमात्र तरीका है कि क्या असामान्य कोशिकाएं हैं जो कैंसर में विकसित हो सकती हैं, सर्वाइकल स्क्रीनिंग टेस्ट कराना है। यदि प्रारंभिक कोशिका परिवर्तन गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर में विकसित होते हैं, तो सबसे आम लक्षणों में शामिल हैं:

मासिक धर्म के बीच योनि से रक्तस्राव

मासिक धर्म में रक्तस्राव जो सामान्य से अधिक लंबा या भारी हो

संभोग के दौरान दर्द

संभोग के बाद रक्तस्राव

पेडू में दर्द

आपके योनि स्राव में परिवर्तन जैसे अधिक स्राव या इसमें तेज़ या असामान्य रंग या गंध हो सकती है

रजोनिवृत्ति के बाद योनि से रक्तस्राव।

सर्वाइकल कैंसर के कारण

धूम्रपान और निष्क्रिय धूम्रपान

एक कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली
असुरक्षित यौन संबंध

एक से ज्यादा यौन साथी

पर्सनल हाइजीन की कमी

सर्वाकल कैंसर से बचाव

सर्वाइकल कैंसर से बचाव का सबसे कारगर तरीका इसकी वैक्सीन लगवाना है। इस कैंसर की रोकथाम के लिए संक्रमण फैलाने वाले वायरस एचपीवी के खिलाफ वैक्सीन लगवाना बेहद जरूरी है। एचपीवी वैक्सीन सर्वाइकल कैंसर समेत कई गंभीर कैंसर को रोकने में कारगर साबित होता है।

सुरक्षित यौन संबंध
धूम्रपान से परहेज करें
हेल्दी डाइट फॉलो करें
पर्सनल हाइजीन का ध्यान रखें
यौन साथियों की संख्या कम करें
एचपीवी वायरस के खिलाफ वैक्सीन लगवाएं

हर साल 1 लाख से अधिक महिलाएं इससे पीड़ित

महिलाओं के लिए दूसरी सबसे खतरनाक बीमारी सर्वाइकल कैंसर है। महिलाओं में हर तरह के कैंसर के करीब 18 प्रतिशत मामले सामने आते हैं। हर साल करीब 1 लाख 20 हजार नए मामले सर्वाइकल कैंसर के आते हैं। जिसमें 77 हजार से ज्यादा महिलाओं की मौत हो जाती है। यानी हर रोज करीब 211 महिलाएं सर्वाइकल कैंसर से जान गंवाती हैं।

Related posts

Aaj Ka Panchang : आज से होलाष्टक की शुरुआत, पंचांग से जानें किस शुभ मुहूर्त में करें पूजा-पाठ?

bbc_live

5th Day of Navratri: आज मां स्कंदमाता की होगी पूजा, देखें पूजा शुभ-अशुभ मुहूर्त और पंचांग

bbc_live

बेटी की शादी में झूमे आमिर खान: अपने आइकॉनिक सॉन्ग में भांजे इमरान के साथ थिरकते नजर आए, इंटरनेट पर वीडियो हुआ वायरल

bbcliveadmin

Leave a Comment

error: Content is protected !!