9.6 C
New York
April 21, 2024
BBC LIVE
अंतर्राष्ट्रीयछत्तीसगढ़राजनीतिराज्यराष्ट्रीय

छत्तीसगढ़ मुस्लिम समाज के प्रतिनिधियों ने राज्यपाल से मुलाकात कर राज्य में अल्पसंख्यक समुदाय पर बढ़ते उत्पीड़न से अवगत करा कारवाईं की मांग

अब्दुल सलाम क़ादरी

आज छत्तीसगढ़ मुस्लिम समाज के प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल श्री बिश्व भूषण हरिचंदन जी से मुलकात किए चर्चा के दौरान उन्हें रमज़ान में इफ्तार की दावत दी और उन्होंने राज्य में होने वाली घटनाओ के बारे में अवगत कराया

मुस्लिम समाज के प्रतिनिधि मंडल राज्यपाल महोदय जी को बताया कि छत्तीसगढ़ एक शांत प्रदेश है, यहां पर विभिन्न धर्म, जाति एवं भिन्न भिन्न प्रांतो से आये हुए लोग बरसो से आपस में सौहार्द्र पूर्ण वातावरण में रहते आये है। छत्तीसगढ़ में मुस्लिम आबादी लगभग 3 प्रतिशत है जो मुख्यतः बड़े शहरो कस्बों और गांव में निवासरत है।

राजधानी रायपुर के क़रीब तिल्दा औद्योगिक नगरी में थाने के सामने पिछले 23.01.2024 को पुलिस की उपस्थिति में, मदरसे में पढ़ाने वाले धर्म गुरू मौलाना अजगर अली के साथ कतिपय असामाजिक तत्वो द्वारा मारपीट किया गया और तिलदा पुलिस द्वारा उल्टा मौलाना को ही जेल भेज दिया गया

ग्राम भोथीडडीह, जिला धमतरी जो कि राजधानी से लगभग 70 किलोमीटर है वहां स्थित मदरसा में धमतरी, कुरूद एवं अन्य स्थानों से एक संगठन के लोग एकत्र सुनियोजित ढंग से मदरसा एवं बगल मकान में तोडफोड की गई है,मगर लोड पुलिस द्वारा मात्र प्रथम सूचना दर्ज कर कोई कारवायी नहीं की गयी आरोपीयो को संरक्षण दिया जा रहा है

तीसरी घटना कवर्धा में मुस्लिम कब्रिस्तान की बाउंड्रीवाल जिसे नगर पालिका परिषद कवर्धा द्वारा ही बनवाया गया था जिसकी निर्माण एजेंसी नगर पालिका परिषद कवर्धा ही थी न मालूम किन कारणों से अतिक्रमण मानकर बाउंड्री तोड़ दी गयी यहाँ यह उल्लेखनीय उक्त निर्माण कार्य जिस CMO द्वारा स्वीकृत किया गया था, वही CMO एन. के. वर्मा वर्तामान में भी CMO के रूप में पदस्थ है तथा उसके बाद भी उनके द्वारा अवैध निर्माण बतलाकर तोड़ दिया गया।

इसी प्रकार कवर्धा में दिनांक 23.12.2023 को साधुराम यादव नामक व्यक्ति की हत्या हुई इस मामले में मोबाईल टावर लोकेशन के आधार पर पुलिस अधीक्षक कवर्धा द्वारा 5 युवक को गिरफ्तार करना बताया गया और पत्रकारों द्वारा motive के बाबत पूछने पर गोल मोल बात की गई और देर रात में ही संदेहास्पद परिस्थिति में ऐसे गंभीर मामले में रात में ही मजिस्ट्रेट के सामने पेश कर रिमाण्ड लेकर देर रात को ही जेल दाखिल कराया गया, जबकि पुलिस को बारीकी से इन्वेस्टीगेशन करना था

सर्वसमाज कवर्ध द्वारा दिनांक 02.02.2024 को मीटिंग कर सीबीआई जाँच की माँग की गयी

फिर इस मामले को लेकर दिनांक 14.02.2024 को कवर्धा बंद किया गया था विभिन्न हिन्दु संगठनो ने किया।

हत्या के आरोप में जेल में बंद आरोपीगण के विरूद्ध पुलिस अधीक्षक कवर्धा द्वारा व्यक्तिगत लाभ प्राप्त करने के लिए और दबाव में आकर दिनांक 18.02.2024 UAPA को लगाया गया है।

समाज के प्रतिनिधियों ने निवेदन किया कि इस संदेहास्पद मामले की उच्च स्तरीय जाँच हो एवंअल्पसंख्यक समाज के द्वारा दर्ज कराये मामलों में police वैधानिक कारवाईं करे ताकि क़ानून को हाथ में लेने वाले तत्वों को सबक़ मिल सके और पीड़ित लोगो को न्याय मिले जिससे भय का वातावरण ख़त्म हो।

राज्यपाल महोदय जी ने सारी घटनाओ को संज्ञान लेकर उचित कार्यवाही कराने का वादा किया।

समाज के डेलिगेशन में, सैय्यद अकील, नौमान अकरम हामिद, शाहिद अली, सै. सादिक अली और अन्य साथी मौजूद थे।

Related posts

MP BREAKING: स्कूलों में कक्षा 1 से 12वीं तक एक दिन का ‘नो बैग डे’, इस कक्षा के बच्चों को नहीं दिया जाएगा होमवर्क, आदेश जारी

bbc_live

शिक्षामंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने की आत्मानंद स्कूल को लेकर बड़ी घोषणा

bbc_live

सीएम केजरीवाल को नहीं मिली राहत, 1 अप्रेल तक बढ़ाई गई ED की हिरासत

bbc_live

Leave a Comment

error: Content is protected !!