11.5 C
New York
April 25, 2024
BBC LIVE
राज्य

जब नंगे पांव CM से मिलने पहुना पहुंचे जागेश्वर राम, सीएम ने कहा – ‘वहां क्यों खड़े हो, पास आओ’

रायपुर। अपना पूरा जीवन बिरहोर जनजाति की सेवा में बिताने वाले जागेश्वर राम को पद्मश्री अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने पिछड़ी जनजाति के शिक्षा के लिए भी विशेष रूप से कार्य किया और इसमें उन्हें मुख्यमंत्री विष्णु देव साय का भी महत्वपूर्णस हयोग मिला।

विष्णुदेव साय जब मुख्यमंत्री बने तब जागेश्वर उनसे मिलने नंगे पांव ही राज्य अतिथि गृह आए। मुख्यमंत्री ने उन्हें जब दूर से देखा तो आत्मीयता से आवाज लगाई। ऊहां कहां खड़े हस, ऐती आ।

दरअसल, जागेश्वर राम और मुख्यमंत्री श्री साय के बीच आत्मीयता की जो कड़ी जुड़ी, वो प्रदेश की अति पिछड़ी जनजाति मानी जाने वाली बिरहोर जनजाति की वजह से जुड़ पाई।

जागेश्वर राम महकुल यादव जाति से आते हैं। अपने युवावस्था के दिनों में जब पहली बार वे बिरहोर जनजाति के संपर्क में आये तो इस विशेष पिछड़ी जनजाति की बेहद खराब स्थिति ने उन्हें बेहद दुखी कर दिया। वे शेष दुनिया से कटे थे। शिक्षा नहीं थी, वे झोपड़ियों में रहते थे। स्वास्थ्य सुविधा का अभाव था। उन्होंने संकल्प लिया कि अपना पूरा जीवन बिरहोर जनजाति के बेहतरी में लगाऊंगा।

 यह बहुत बड़ा मिशन था और इसके लिए उन्होंने अपनी ही तरह के संवेदनशील लोगों से संपर्क आरंभ किया। इसके चलते वे तत्कालीन सांसद विष्णु देव साय के संपर्क में आये। राम ने उनके समक्ष इस जनजाति के विकास के लिए योजना रखी। सांसद ने भी उन्हें पूरे सहयोग के लिए आश्वस्त किया।

 इसके बाद सांसद साय के सहयोग से भीतघरा और धरमजयगढ़ में आश्रम खोले। शुरूआत में ऐसी स्थिति थी कि लोग आश्रम से अपने बच्चों को घर ले जाते थे लेकिन जब आश्रम में पहली पीढ़ी के बच्चे पढ़कर निकले और उनके जीवन में सुखद बदलाव आये तो बिरहोरों ने अपने बच्चों को यहां भेजना शुरू किया। इस गौरवमयी उपलब्धि के लिए राज्य अलंकरण समारोह में उन्हें शहीद वीर नारायण सिंह पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

Related posts

वन विभाग ने जारी किया आदेश : 2021 बैच के ट्रेनी IFS अफसरों को मिली नयी पोस्टिंग

bbc_live

आज “शंखनाद इन्फ्लुएंसर मीट 2024” का आयोजन, कैबिनेट मंत्री बृजमोहन अग्रवाल समेत कई वरिष्ठ नेता होंगे शामिल

bbc_live

बड़ी खबर : छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने पदोन्नति में आरक्षण के प्रावधान को किया निरस्त

bbc_live

Leave a Comment

error: Content is protected !!