6.5 C
New York
April 25, 2024
BBC LIVE
राष्ट्रीय

ताजमहल में सालाना उर्स मनाने के खिलाफ न्यायालय में याचिका

आगरा। हिन्दू महासभा ने ताजमहल में मुगल शासक शाहजहां का सालाना उर्स मनाने के खिलाफ आगरा के एक जिला न्यायालय में याचिका दायर की गई है। इसमें आगामी 6-8 फरवरी के बीच ताजमहल में होने वाले शाहजहां के उर्स पर रोक लगाने की माँग की गई है। हिन्दू महासभा ने कहा है कि ताजमहल में होने वाले उर्स के लिए सरकार की अनुमति नहीं है, फिर भी इसका आयोजन किया जा रहा है। ये याचिका अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के कार्यकर्ताओं मीना देवी दिवाकर और सौरभ शर्मा ने शुक्रवार (2 फरवरी, 2024) को आगरा के जिला न्यायालय के समक्ष एक याचिका लगाई।

6-8 फरवरी के बीच आगरा की ताजगंज कमिटी मुग़ल शासक शाहजहां की मौत का 369वां उर्स मनाएगी। इस्लाम का सूफी मत मानने वाले उर्स का आयोजन किसी बड़ी हस्ती की बरसी पर करते हैं। आगरा के ताजमहल में इसका आयोजन ताजगंज कमिटी के सैयद इब्राहिम जैदी करवा रहे हैं।

इब्राहिम जैदी को हिन्दू कार्यकर्ताओं ने इस याचिका में पक्षकार बनाया है। हिन्दू पक्ष का कहना है कि ताजमहल ASI संरक्षित है। इसके अंदर उर्स मनाने के लिए अनुमति ASI से नहीं ली गई है। उनका कहना है कि ASI के उर्स को अनुमति ना देने के संबंध में उन्हें एक RTI से जानकारी प्राप्त हुई है।

हिन्दू महासभा के कार्यकर्ताओं ने कहा है कि इस उर्स का आयोजन करवाने वाले जैदी का किसी भी प्रकार से ताजमहल से कोई सम्बन्ध नहीं है। ना ही वह ताजमहल में कर्मचारी हैं और ना ही वह स्मारक से सीधे तौर पर जुड़े हुए हैं। ऐसे में उनके उर्स आयोजित करने का कोई तुक नहीं बनता है।

हिन्दू महासभा के जिलाध्यक्ष और इस मामले में याचिकाकर्ता सौरभ शर्मा ने कहा है कि ASI संरक्षित स्मारकों में कोई मजहबी काम नहीं हो सकते हैं, ऐसे में यह उर्स मनाया जाना अवैध है। हिन्दू महासभा ने इस उर्स के दौरान ताजमहल में प्रवेश निशुल्क किए जाने को भी चुनौती दी है।

अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के प्रवक्ता संजय जाट के अनुसार न तो मुगलों, न ही अंग्रेजों और न ही कभी केंद्र सरकार ने ताज महल परिसर के अंदर उर्स की इजाजत दी थी। उन्होंने बताया की “यह याचिका आगरा के इतिहासकार राज किशोर राजे द्वारा RTI से प्राप्त एक जानकारी के आधार पर दायर की गई है। RTI में, उन्होंने ASI से पूछा कि ताज महल परिसर में ‘उर्स’ समारोह और ‘नमाज़’ की अनुमति किसने दी। इस पर ASI ने जवाब दिया था, ”न तो मुगलों, न ही ब्रिटिश सरकार या भारत सरकार ने ताज महल में ‘उर्स’ मनाने की अनुमति दी है।”

यह याचिका कोर्ट में डालने वाले संगठन हिन्दू महासभा के प्रवक्ता संजय जाट ने बताया कि वह ताजमहल के सर्वे के लिए भी याचिका डालेंगे।

Related posts

चुनाव आयोग का राजनीतिक पार्टियों को सख्त निर्देश, बच्चे या नाबालिगों को प्रचार में न करें शामिल

bbc_live

Daily Horoscope : आज सूर्य की तरह चमकेगा मेष और वृषभ समेत इन 7 राशि वालों का भाग्य

bbc_live

दहेज प्रताड़ना मामला : बिना नोटिस दिए पुलिस ने किया गिरफ्तार, हाईकोर्ट ने सरकार पर ठोका 1 लाख का जुर्माना

bbc_live

Leave a Comment

error: Content is protected !!